दिल्ली पुलिस का कांस्टेबल मोहम्मद इमरान, भगा रहा था जमातियों को, गद्दार किया गया गिरफ्तार



फिर एक बार साबित हो गया की मजहबी उन्मादियों के लिए देश के प्रति वफादारी जैसी कोई चीज नहीं है, इनके लिए मजहबी उन्माद ही सबकुछ है

मोहम्मद इमरान जिसने पुलिस की वर्दी पहनने से पहले कसम खाई थी भारत के प्रति वफादारी निभाने की, दिल्ली पुलिस के प्रति वफादारी निभाने की, उसने आख़िरकार मजहब के प्रति ही वफादारी निभाई

दिल्ली पुलिस ने अपने ही एक कांस्टेबल को गिरफ्तार किया है, इस कांस्टेबल का नाम है मोहम्मद इमरान

कांस्टेबल मोहम्मद इमरान जमातियों को दिल्ली से भाग जाने में मदद कर रहा था, तबलीगी जमात के कई जमाती अभी भी फरार है, और दिल्ली बॉर्डर से इनको भागने में कांस्टेबल इमरान मदद कर रहा था

कांस्टेबल मोहम्मद इमरान द्वारा गद्दारी की खबर जैसे ही दिल्ली पुलिस को लगी पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया है



जमातियों के कारण अब देश में कोरोना पीड़ितों की संख्या 3 हज़ार को भी पार कर गयी है, पिछले 5 दिनों से देश भर में जमातियों ने जबरजस्त आतंक मचाया है, 5 दिनों पहले भारत में कोरोना पीड़ितों की संख्या 1 हज़ार से भी कम थी, जो सिर्फ 5 दिनों में 3 हज़ार को पार कर गयी है 

कांस्टेबल मोहम्मद इमरान जिस से उम्मीद लगाई गयी थी की वो देश के प्रति अपनी वफादारी निभाएगा, मौका आने पर उसने देश के साथ गद्दारी कर मजहबी उन्माद के प्रति ही वफादारी निभाई