टिकटोक पर बोल रहा था - हम नमाज़ और अल्लाह वाले, नहीं चाहिए मास्क, अब इसी को हुआ कोरोना



मजहबी उन्मादी जो टिक टोक पर फ़रवरी और मार्च में कोरोना को लेकर बहुत ज्यादा मजहबी उन्माद मचा रहे थे अब कोरोना ने उनको ही सबसे ज्यादा शिकार बनाना शुरू कर दिया है 

नया मामला मध्य प्रदेश के सागर का है जहाँ एक उन्मादी टिक टोक पर वीडियो डाल रहा था, इसने टिक टोक पर कई विडियो डाले और सभी विडियो में ये कहता दिखाई दिया की - हम अल्लाह को मानने वाले लोग है, हम नमाज़ी है, हमे कोई कोरोना नहीं होगा, हमे मास्क की जरुरत नहीं हम अल्लाह की टोपी पर भरोसा करते है मास्क पर नहीं 

इस उन्मादी का नाम समीर खान है और ये मध्य प्रदेश के सागर का रहने वाला है, अब खबर ये आई है की इसकी जान अब आफत में आ चुकी है क्यूंकि इसे खुद कोरोना हो चूका है 
पहले यही कह रहा था की इसे मास्क की जरुरत नहीं, अब अस्पताल में ये कह रहा है की - भाई लोगो मेरे लिए प्लीज दुआ करो

समीर खान सिर्फ एक उदाहरण है, एक के बाद उन्मादी जो पहले नमाज़, मस्जिद, टोपी, अल्लाह का नाम लेकर उन्माद मचा रहे थे उन्हें कोरोना होता जा रहा है