चीन के खरबों के कई कारोबारों पर अब हो जायेगा भारत का पूरा कब्ज़ा, तैयार रहे भारत : एक्सपर्ट्स



भले ही चीनी वायरस के कारण भारत में लॉक डाउन है और भारत की इकॉनमी को नुक्सान पहुँच रहा है, पर जानकर ये मान रहे है की चीनी वायरस से अंततः भारत को बड़ा फायदा होगा और चीन को खामियाजा भुगतना ही होगा 

आज बाज़ार के एक प्रमुख जानकर अनिल सिंघवी ने कहा की - चीन के खिलाफ किसी के पास पुख्ता सबूत नहीं है की उसने वायरस फैलाया है पर दुनिया के लोगो के मन में चीन को लेकर अब मन ही मन संदेह है, चीन को लेकर दुनिया में माहौल अच्छा नहीं है, कहीं न कहीं दुनिया के लोग मान रहे है की चीन ही इस वायरस के पीछे है और इसका नुक्सान चीन को उठाना होगा 

अनिल सिंघवी से बातचीत के दौरान एक अन्य एक्सपर्ट सिद्धार्थ सदानी ने कहा की - कुछ ही समय में चीन के 2 प्रमुख कारोबारों पर भारत का पूरा कब्ज़ा हो सकता है, ये 2 कारोबार है इलेक्ट्रॉनिक गुड्स का और दूसरा है केमिकल का 

सिद्धार्थ ने कहा की - चीन में इलेक्ट्रॉनिक्स गुड्स और केमिकल का बड़ा बाज़ार है, इस खरबों रुपए के बाज़ार पर जल्द ही भारत का पूरा कब्ज़ा हो जायेगा, भारत की इकॉनमी को अरबों रुपए का फायदा होगा वहीँ चीन को इसका सीधा नुक्सान होगा 

जानकर ये भी मान रहे है की - कोरोना का कोहराम थोडा कम होने के बाद जब दुनिया में आर्थिक गतिविधियाँ बढेंगी तो दुनिया भर के लोग चीन से कारोबार को शिफ्ट करेंगे और उनके लिए भारत ही सबसे अच्छा स्थान है जहाँ वो चीन से कारोबार को शिफ्ट करके ला सकते है 

भारत चीन का जवाब इसलिए भी है क्यूंकि भारत में जनसँख्या बहुत है, भारत का भी बाज़ार बहुत बड़ा है, भारत में भी मजदूरी सस्ती है और जियोग्राफी के हिसाब से भी भारत एकदम फिट बैठता है

जानकारों का कहना है की कोरोना के दौर में जहाँ दुनिया की आर्थिक रफ़्तार माइनस में हो सकती है वहीँ भारत की आर्थिक रफ़्तार फिर भी 1.9% रहेगी जो चीन से ज्यादा ही होगी, दुनिया भले माइनस में चलेगी फिर भी भारत में पॉजिटिव माहौल रहेगा और चीन को इस वायरस के चलते कई तरह के कारोबार गंवाने होंगे और वो कारोबार भारत में आएंगे