जब देश फूल बरसा रहा डाक्टरों पर तब डाक्टर आफ़ताब कर रहा था अपहरण.. क्लिनिक को ही बना दिया था अपराध का अड्डा



ये मामला छत्तीसगढ़ से जुडा हुआ है. ये वो समय है जब पूरादेश डाक्टरों को भगवान मान कर उन पर फूल बरसा रहा है और अपनी जान बचाने के लिएउनको धन्यवाद कर रहा था. लेकिन उसी समय आफ़ताब की हरकत निकृष्ट भी से निकृष्टतम है.मामला छत्तीसगढ़ से जुड़ा हुआ है जहाँ पर प्रदेश के सम्मानित और बेहद चर्चित कारोबारीप्रवीण सोमानी अपहरणकांड के छठवें आरोपी को भी  राजधानीपुलिस ने आख़िरकार गिरफ्तार कर ही लिया है. आरोपी को पुलिस ने यूपी से गिरफ्तारकिया है. पकड़े गए आरोपी का नाम आफताब अहमद है है जो खुद को डाक्टर लिखता है.. 

दरअसल राजधानी पुलिस को सूचना मिली थी कि प्रवीण सोमानी अपहरणकांड का छठवांआरोपी उत्तर प्रदेश के जिला  अंबेडकरनगर में छुपा हुआ है. जिसके आधार पर रायपुर से छह टीमगठित कर आरोपी की गिरफ्तारी के लिए उत्तर प्रदेश पहुच गई. ये मामला छत्तीसगढ़ से जुडा हुआ है. 

ये वो समय है जब पूरादेश डाक्टरों को भगवान मान कर उन पर फूल बरसा रहा है और अपनी जान बचाने के लिए उनको धन्यवाद कर रहा था. लेकिन उसी समय आफ़ताब की हरकत निकृष्ट भी से निकृष्टतम है.मामला छत्तीसगढ़ से जुड़ा हुआ है जहाँ पर प्रदेश के सम्मानित और बेहद चर्चित कारोबारीप्रवीण सोमानी अपहरणकांड के छठवें आरोपी को भी  राजधानीपुलिस ने आख़िरकार गिरफ्तार कर ही लिया है. आरोपी को पुलिस ने यूपी से गिरफ्तारकिया है. पकड़े गए आरोपी का नाम आफताब अहमद है है जो खुद को डाक्टर लिखता है और बीएएमएस की डिग्री धारक है. 

दरअसल राजधानी पुलिस को सूचना मिली थी कि प्रवीण सोमानी अपहरणकांड का छठवांआरोपी उत्तर प्रदेश के जिला  अंबेडकरनगर में छुपा हुआ है. जिसके आधार पर रायपुर से छह टीमगठित कर आरोपी की गिरफ्तारी के लिए उत्तर प्रदेश पहुच गई. जानकारी केअनुसार इसी साल 8जनवरी को उद्योगपति प्रवीण सोमानी कासिलतरा में उसका अपहरण हो गया था. ये हाईप्रोफाइल मामला था जिसके चलते पूरे प्रदेशमें हलचल मची रही. पुलिस ने यूपी से सोमानी को अपहरणकर्ताओं से छुड़ा कर वापस लायाथा. इस मामले में पहले ही पांच आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है. 

आख़िरकार सतर्कता और सावधानी बरतते हुए अंबेडकरनगर पुलिस की मदद से आरोपी डॉक्टर को गिरफ्तार कर उसे रायपुर लाया गया. आज इस पूरेमामले का खुलासा किया गया. पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि अपहरणकर्ताओं ने प्रवीण सोमानी का अपहरण कर अपने अस्पताल में रखा था. वो रोजसोमानी रेगुलर चेकअप करता था और बेहोशी की दवाएं भी देता था.आरोपी को पकड़ने मेंएडिशनल एसपी क्राइम पंकज चंद्रा ,  ग्रामीण एडिशनल एसपीतारकेश्वर पटेल और सीएसपी अभिषेक माहेश्वरी की महत्वपूर्ण भूमिका रही है.