ड्यूटी पर थी महिला कोरोना वारियर, हामिद करने लगा प्रताड़ित, जहर पीकर की आत्महत्या की कोशिश


देश कोरोना संकट से जूझ रहा है और संकट की इस घडी में सबसे आगे देश के डाक्टर, हेल्थ वर्कर, सफाई और पुलिस कर्मी है पर इन सभी को कोरोना के साथ साथ मजहबी उन्मादियों से भी जूझना पड़ रहा है 

कोरोना के खिलाफ लड़ने वाली एक आशा हेल्थ वर्कर महिला ने फिनायल पीकर आत्महत्या की कोशिश की है, ये घटना उत्तरी नागपुर के कामगारनगर में घटित हुई है जो की जरिपरका पुलिस थाने के अंतर्गत आता है 

महिला कोरोना के खिलाफ अभियान को लेकर अपने साथियों के साथ ड्यूटी पर तैनात थी और गुलाम हामिद के घर गयी थी, जानकारी ये थी की गुलाम हामिद की बेगम की तबियत कुछ ठीक नहीं है इसलिए आशा वर्कर उसी की जानकारी के लिए गयी थी 

गुलाम हामिद ने फिर इस महिला आशा वर्कर से दरिंदगी शुरू कर दी, गालियाँ और धमकियाँ दी और उसके डाक्यूमेंट्स और ID कार्ड को भी फाड़ दिया, जब मामला पुलिस तक पहुंचा तो गुलाम हामिद ने उल्टा महिला पर ही आरोप लगा दिया की ये घुसबैठ कर रही थी 

शिवसेना कांग्रेस एनसीपी की सरकार वाली पुलिस ने गुलाम हामिद पर कोई कार्यवाही नहीं की और बाद में इस महिला आशा वर्कर ने फिनायल पीकर आत्महत्या की कोशिश की 

तड़पती ,महिला की आवाज परिवार के लोगो तक पहुंची तो उसे तुरंत अस्पताल ले जाया गया जहाँ उसका अब इलाज चल रहा है