PM मोदी ने दवाई देकर जो मदद की है, कभी नहीं भूलूंगा, महान हैं वो : डोनाल्ड ट्रम्प



कोरोना वायरस को लेकर दुनिया भर में अब भारत की ओर मदद के लिए हाथ बढाया जा रहा है, भारत दुनिया में हाइड्रोक्सी कोलोरोकुइन का सबसे बड़ा निर्माता है, दुनिया का 70% हाइड्रोक्सी कोलोरोकुइन भारत में ही बनाया जाता है और दुनिया भर के देशों ने इस दवाई के लिए भारत से मदद मांगी है 

भारत ने भी मानवता और बड़ा ह्रदय दिखाते हुए दुनिया के कई देशों को अब हाइड्रोक्सी कोलोरोकुइन का निर्यात शुरू कर दिया है और इसमें सबसे बड़ा देश खुद अमेरिका है 

भारत ने अमेरिका को 2 करोड़ से ज्यादा हाइड्रोक्सी कोलोरोकुइन टेबलेट्स भेज दिए है, भारत ने खुद के लिए 10 करोड़ टेबलेट रखे हुए है, भारत की कम्पनियाँ 1 महीने में 30 करोड़ टेबलेट्स बना सकती है, जिसे जरुरत पड़ने पर और बढाया जा सकता है 

अब हाइड्रोक्सी कोलोरोकुइन टेबलेट पाकर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद करते नहीं थक रहे, आज डोनाल्ड ट्रम्प ने लिखित रूप में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ साथ भारत और भारत के लोगो का धन्यवाद किया

डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा की - असामान्य परिस्थितयों में ही दोस्तों को और ज्यादा मिल जुलकर काम करना चाहिए, जिस तरह भारत ने अमेरिका की मदद की है वो मैं कभी नहीं भूलूंगा

साथ ही ट्रम्प ने कहा की मैं भारत और भारत के लोगो और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद करता हूँ, उन्होंने मुसीबत में हमारी मदद की है, और मानवता के लिए कार्य किया है 

आपकी जानकारी के लिए बता दें की जिस दवाई की जरुरत दुनिया को पड़ी है वो मलेरिया की दवाई है, इस दवाई का कई अन्य दवाइयों के साथ मिश्रण मिलकर कोरोना का इलाज इन दिनों किया जा रहा है और देखने में आया है की इस दवाई से कोरोना के मरीजों को लाभ पहुंचा है