ट्रेनों में मजदूरों से नहीं लिया जा रहा 1 भी पैसा, बेशर्मी से झूठ फैला रही कांग्रेस पार्टी और फर्जी पत्रकार



पिछले दिनों केंद्र सरकार और रेल मंत्रालय ने कई स्पेशल ट्रेन्स को चलाने की शुरुवात की है, ये स्पेशल ट्रेन्स इसलिए चलाई जा रही है ताकि गरीब मजदूर लोग अपने अपने राज्यों और अपने घरों तक पहुँच सके 

कई ट्रेन अभी ट्रैक पर चल रही है और लाखों की संख्या में मजदूर और गरीब लोग सफ़र कर रहे है और किसी से भी 1 हबी पैसा टिकेट के लिए नहीं लिया गया है 

किसी भी रेलवे स्टेशन पर 1 भी पैसे का टिकेट नहीं बेचा गया है, न ही किसी भी स्पेशल ट्रेन के लिए ऑनलाइन टिकेट बेचा गया है, रेलवे ने कोई टिकेट ही नहीं बेचा, 1 भी नहीं 


पर चूँकि मामला लाखों करोडो लोगो से जुड़ा हुआ हिया इसलिए कांग्रेस पार्टी बड़ी ही बेशर्मी पर उतर गयी है, और सोनिया गाँधी से लेकर कांग्रेस के बड़े छोटे नेता सफ़ेद झूठ ये फैला रहे है की केंद्र सरकार बड़ी निर्दयी है और स्पेशल ट्रेन्स के लिए गरीब मजदूरों से पैसे वसूले जा रहे है , 500-500 के टिकेट बेचे जा रहे है 

 कांग्रेस पार्टी की मदद फर्जी पत्रकार कर रहे हिया और ये सब झूठ फैलाने के लिए मैदान में कूद चुके है, उदाहरण देखिये 


झूठ को राहुल गाँधी भी फैला रहा है


सोनिया गाँधी तो खुद सामने आ गयी और कहा की - कांग्रेस पार्टी मजदूरों के टिकेट का पैसा देगी 


ये शुद्ध रूप से बड़ी ही बेशर्मी वाली हरकत है, जब देश में संकट है, गरीब मजदूर अपने घरों के लिए निकल रहे हिया तब ये लोग पैनिक फैलाने में लगे है

1 भी टिकेट किसी को नहीं बेचा गया, 1 भी पैसा किसी से नहीं लिया गया, न स्टेशन पर टिकेट बेचा गया न ही ऑनलाइन बेचा गया, पर पूरा एको सिस्टम झूठ फैलाने के लिए सामने आ गया ताकि संकट के इस दौर में पैनिक की राजनीती की जा सके