कोरोना की दवाई का प्रोडक्शन शुरू, भारत में बन रही कोरोना की दवाई, सामने आई जानकारी



कोरोना की दवाई को लेकर दुनिया भर में वैज्ञानिक और डाक्टर दिन रात एक किये हुए है और भारत इस रेस में सबसे आगे निकलता दिखाई दे रहा है 

एक बड़ी जानकारी ये सामने आई है की भारत में कोरोना की दवाई का प्रोडक्शन शुरू कर दिया गया है, और 7 से 10 करोड़ की पहली खेप बनाई जा रही है

ये दवाई दुनिया में सबसे ज्यादा वैक्सीन बनाने वाली कंपनी सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ पुणे बना रही है और इस बात का खुलासा खुद कंपनी के मालिक अदर पूनावाला ने दी है, उन्होंने बताया है की कंपनी ने कोरोना के वैक्सीन का प्रोडक्शन शुरू कर दिया है

अदर पूनावाला ने बताया की उनकी कंपनी ब्रिटेन के ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी के साथ मिलकर दवाई का मानव ट्राइल कर रही है, ट्राइल के नतीजे जब आये तब आये पर शुरुवाती दौर में वैक्सीन को सफलता मिली है और इसी सफलता के बाद हमने दवाई का प्रोडक्शन शुरू कर दिया है 

अदर पूनावाला ने कहा की - ट्राइल के नतीजों पर जैसे ही मुहर लगेगी उसके बाद अगर दवाई का प्रोडक्शन शुरू करेंगे तो दवाई बनने में और समय लगेगा इस लिए हम एडवांस में ही दवाई का निर्माण कर रहे है और जैसे ही ट्राइल के सफलता पर अंतिम मुहर लगेगी वैसे ही दवाई की सप्लाई मार्किट में शुरू कर दी जाएगी, इस से दवाई के निर्माण में लगने वाला समय बच जायेगा 

अदर ने ये भी बताया की उनकी कंपनी दुनिया में सबसे ज्याद वैक्सीन बनाती है और वो अपने रिस्क पर प्रोडक्शन कर रहे है, अगर ट्राइल के नतीजे नेगेटिव आते है तो फिर बनाए हुए दवाई को नष्ट कर दिया जायेगा, पर उन्हें ट्राइल के शुरुवाती रिजल्ट्स पर इतना भरोसा हो चूका है की अरबों रुपए लगाकर उन्होंने दवाई का प्रोडक्शन भी शुरू कर दिया है 

अदर ने ये भी कहा की हम 7 से 10 करोड़ की पहली खेप बना रहे है और दवाई को हम साधारण कीमत पर ही लोगो को देंगे, 1 डोज की कीमत 1 हज़ार भारतीय रुपए के आसपास ही होगी जिस से दवाई को साधारण से साधारण लोग भी ले सके