अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण का कार्य शुरू, भड़क उठा वकील प्रशांत भूषण, जमकर कर रहा है विरोध



अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण का कार्य शुरू हो चूका है, 11 मई से ही भूमि के समतलीकरण का काम शुरू हुआ था जिसके बाद पहले के राम मंदिर के कई अवशेष सामने आये थे, इसके बाद कल 26 मई से आधिकारिक तौर पर राम मंदिर निर्माण का काम मंदिर ट्रस्ट ने शुरू किया

पहले आपको साफ़ कर दें की राम मंदिर निर्माण में सरकार का 1 भी पैसा नहीं लगा, हिन्दुओ ने चंदा जमा किया है, हिन्दुओ के चंदे से ही राम मंदिर निर्माण का नाम मंदिर ट्रस्ट कर रहा है

मंदिर भी हिन्दुओ के धन से बन रहा है, और मंदिर को भी हिन्दू ही बना रहे है, अयोध्या रेड ज़ोन नहीं है और सरकार पहले ही देश भर में ग्रीन और ओरंग जोन में निर्माण कार्यों के लिए आज्ञा दे चुकी है

राम मंदिर निर्माण से हिन्दू विरोधियों को आग लगनी ही थी और प्रशांत भूषण जो लम्बे समय से ही कई तरह के आतंकवादियों और रोहिंग्यों की वकालत करता आया है, कश्मीर को देश से आजाद करने की मांग करता आया है वो अब राम मंदिर निर्माण से भड़क उठा है

प्रशांत भूषण ने आज राम मंदिर निर्माण के कार्य को लेकर अपनी भड़ास निकाली, देखिये

आपको फिर बता दें की ऑरेंज और ग्रीन जोन में सरकार पुरे देश में निर्माण कार्य की आज्ञा दे चुकी है, मंदिर का निर्माण हिन्दुओ के धन से और हिन्दुओ के द्वारा हो रहा है 

पर खुद को वकील कहने वाला प्रशांत भूषण राम मंदिर के निर्माण कार्य की शुरुवात की खबर से इतना आहात हो गया की पागलों की तरह सोशल मीडिया पर चिल्लाने लगा, इसका कहना है की - देश भर में कोरोना है, सब इतने परेशान है और इन लोगो को राम मंदिर के निर्माण की पड़ी है 

प्रशांत भूषण को न ही कोरोना से पीड़ित लोगो की पड़ी है और न ही इसे किसी चीज की जानकारी है, इसे सिर्फ हिन्दू विरोध करना है और इसी कारण ये पागलों की तरह चिल्ला रहा है, जबकि अयोध्या में सबकुछ कानून के मुताबिक हो रहा है