चीन के इशारे पर भारतीय सैनिको का मनोबल तोड़ने के लिए NDTV ने सेना के खिलाफ चलाई फेक न्यूज़, गद्दारी की हदें पार


भारतीय सेना सीमा पर चीन को ईंट का जवाब पत्थर से दे रही है, पर वहीँ NDTV नाम का कुख्यात न्यूज़ संस्थान भारत और भारतीय सेना के खिलाफ ही प्रोपगंडा और फेक न्यूज़ चला रहा है 

इन दिनों चीन भारत से परेशान है और परेशानी का कारण ये है की भारत उन विदेशी कंपनियों को लगातार अपने यहाँ आने का न्योता दे रहा है जो कोरोना के कारण चीन छोड़ देना चाहती है 

चीन भारत पर दबाव बनाना चाहता है ताकि भारत विदेशी कंपनियों को अपने यहाँ न बुलाये और दबाव बनाने के लिए चीन ने सिक्किम, अरुणांचल और लद्दाख बॉर्डर पर सैन्य गतिविधियाँ बढ़ा दी है 

चीन की हर चाल की भारतीय सैनिक नाकाम कर रहे है, पिछले ही दिनों सिक्किम के नाकु लाल में 4 के बदले 13 चीनियों को घायल किया गया था, भारतीय सेना तो चीन को लताड़ रही है पर देश के गद्दार चीन का भरपूर साथ दे रहे है 

NDTV ने चीन के इशारे पर भारत को नीचा दिखाने के लिए, भारतीय सैनिको का मनोबल तोड़ने के लिए एक सूत्र आधारित खबर चलाई 



23 मई को NDTV ने खबर चलाई की लद्दाख में चीनी सेना ने भारतीय सेना के सैनिको को बंधक बना लिया है, भारतीय सैनिको को कब्जे में ले लिया है, कब्जे में लेने के बाद फिर छोड़ दिया है, NDTV ये कह रहा है की उसे ये जानकारी सूत्रों ने दी है 

सेना ने तुरंत इस खबर को फेक न्यूज़ घोषित कर दिया



भारतीय सेना ने कहा की - चीनी सेना ने किसी भारतीय सैनिक को बंधक नहीं बनाया, ये पूरी तरह फेक न्यूज़ है 

NDTV ने ये काम इसलिए किया ताकि भारत को नीचा दिखाया जा सके की भारत कमजोर है, साथ ही NDTV भारतीय सेना और सैनिको का मनोबल भी तोडना चाहता था और बताना चाहता था की चीन की सेना तुमसे बहुत ताकतवर है, उस से डरो 

एक तरफ भारतीय सेना चीन को लगातार मुहतोड़ जवाब दे रही है वहीँ देश के ही अन्दर NDTV जैसे संगठन भारतीय सेना के खिलाफ चीनी प्रोपगंडा शुरू कर चुके है