इजराइल ने अल-अहमर मस्जिद को बना दिया बार और नाईट क्लब, इजराइल नहीं डरता किसी से


अभी हाल ही में मुस्लिम देश टर्की ने एक पुराने चर्च को मस्जिद बना दिया, इस्लामी देशों में लोकतंत्र और दुसरे धर्म के लोगो के लिए कोई जगह नहीं है, दुसरे धर्म के धार्मिक स्थलों पर कब्ज़ा, तोडना, उनपर मस्जिद बनाना ये मजहबी उन्माद का एक प्रमुख कुकृत्य रहा है 

पर ऐसा नहीं है की अरब में सभी देश इस्लामी ही है, अरब में एक देश ऐसा भी है जो की इस्लामी नहीं और न 56 के 56 इस्लामी देशों को वो देश ताक पर रखता है, इस देश का नाम है इजराइल 

टर्की ने हाल ही में एक चर्च को मस्जिद बनाया है इसपर मजहबी उन्मादी बेहद खुश है, पर मजहबी उन्मादी तब बड़े दुखी थे जब इजराइल ने एक मस्जिद को नाईट क्लब और बार बना दिया था 

इजराइल ने सफ़ेद नामक स्थान पर अल-अहमर मस्जिद को बार और नाईट क्लब बना दिया है, इस स्थान पर अब लोग बार और नाईट अलुब का लुफ्त लेने आते है

अल अहमर को लेकर मुस्लिम बताते है की ये पहले एक मस्जिद थी, पर अब इजराइल ने इसे बार और नाईट क्लब में बदल दिया है, यहाँ पर अब शादियाँ भी होती है और इसे अब इवेंट हॉल के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है 


इजराइल चारों ओर से इस्लामी देशों से घिरा हुआ है पर इजराइल को इन 56 के 56 इस्लामी देशों की कोई परवाह नहीं है, अकेले इजराइल ने इन देशों को कई बार युद्ध में रौंदा है