हाई कोर्ट ने कांग्रेस नेता की याचिका को फाड़कर फेंका, राम मंदिर रुकवाने पहुंचा था कांग्रेस नेता


कांग्रेस पार्टीने राम मंदिर को रोकने के लिए पूरी ताकत लगाई, भगवान राम को काल्पनिक बताया, फिर कपिल सिब्बल ने राम मंदिर के खिलाफ केस लड़ा, और अब राहुल गाँधी के करीबी कांग्रेस नेता साकेत गोखले ने राम मंदिर के खिलाफ इलाहबाद हाई कोर्ट में याचिका लगा दी 

पर इलाहबाद हाई कोर्ट ने कांग्रेस को जोरदार झटका दिया है और कांग्रेस नेता साकेत गोखले की याचिका को सुनते ही ख़ारिज कर दिया 

कोर्ट ने याचिका को निराधार और तुच्छ बताया और याचिका को ख़ारिज कर दिया

कांग्रेस नेता ने कोरोना का नाम लेकर राम मंदिर के भूमि पूजन को रोकने की मांग की थी और निराधार तर्क दिए थे, याचिका को सुनते ही कोर्ट ने इसे ख़ारिज कर दिया और कचरे की पेटी में फेंक दिया 


राम मंदिर का भूमिपूजन अब तय समय के अनुसार ही 5 अगस्त को होगा, इसमें प्रधानमंत्री मोदी समेत कई बड़े नेता शामिल होंगे, भूमिपूजन के साथ ही मंदिर निर्माण का कार्य शुरू हो जायेगा