कोर्ट से लात खाने के बाद बोला कांग्रेस नेता - "अब मेरी जान खतरे में, मुझे बचाओ"


राहुल गाँधी का करीबी नेता साकेत गोखले राम मंदिर के भूमिपूजन को रुकवाने के लिए हाई कोर्ट पहुंचा था, कोर्ट में इसने याचिका लगाकर मांग करी थी की राम मंदिर भूमिपूजन को रोक दिया जाये 

कोर्ट ने इसकी याचिका को पढ़ते ही उसे फाड़कर कचरे की पेटी में फेंक दिया, इस से पहले सुप्रीम कोर्ट में एक अम्बेडकरवादी संस्था ने भी राम मंदिर को रोकने की याचिका लगाई थी, उसे भी कोर्ट ने फाड़कर फेंक दिया था और याचिका लगाने वालो पर कोर्ट का समय बर्बाद करने के लिए 1-1 लाख का जुर्माना लगाया था 

अब साकेत गोखले नाम के इस कांग्रेस नेता की याचिका को भी कोर्ट ने फाड़कर कचरे की पेटी में फेंक दिया, इसके बाद इस कांग्रेस नेता ने एक नयी नौटंकी शुरू कर दी 

पहले ये कांग्रेस नेता आरएसएस-बीजेपी का नाम लेकर हिन्दू लोगो को चैलेंज दे रहा था और कह रहा था की - तुम आतंकवादियों में हिम्मत है तो मेरे 10 मीटर के आसपास आओ, तब तुम लोगो को बताता हूँ, पहले देखिये इसकी धमकी और चैलेंज 



अब कोर्ट ने राम मंदिर पर इसकी याचिका को ख़ारिज कर दिया तो ये चिल्लाने लगा की - बीजेपी और आरएसएस के लोग मेरे घर के बाहर आकर जय श्री राम के नारे लगा रहे है, मेरी जान खतरे में है, मुझे बचाओ, देखिये 



कुछ समय पहले ये चैलेंज कर रहा था की हिम्मत है तो मेरे 10 मीटर के आसपास आओ, उसके बाद चिल्लाने लगा की बीजेपी-आरएसएस वाले आ गए और जय श्री राम के नारे लगा रहे है, मुझे बचाओ

कोर्ट से लात खाने के बाद अब ये कांग्रेस नेता विक्टिम कार्ड खेलने के लिए गज़ब की नौटंकी कर रहा है और साबित कर रहा है की ये अपनी याचिका की तरह ही तुच्छ व्यक्ति है