सांसद ने कहा - बिलकुल बर्दास्त नहीं करेंगे राम मंदिर का दूरदर्शन पे प्रसारण, ये सेकुलरिज्म के खिलाफ


पुराने ज़माने में कहा जाता था की जहाँ कोई अच्छा काम होता है वहां अधर्मी और असुरी शक्तियां विघ्न डालने का प्रयास करती है, आज भी ये बात एकदम सटीक साबित होती है 

5 अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए भूमिपूजन का कार्यक्रम है, कार्यक्रम में प्रधानमंत्री समेत कई बड़े नाम शामिल होने वाले है और इस कार्यक्रम का दूरदर्शन पर लाइव प्रसारण भी होगा 

दूरदर्शन पर प्रसारण इसलिए क्यूंकि देश के प्रधानमंत्री एक कार्यक्रम में भाग ले रहे है, और इस से राज्यसभा का एक सांसद इतना आक्रोशित हो उठा की उसने लिखित में राम मंदिर भूमिपूजन के दूरदर्शन पर प्रसारण को रोकने की मांग कर डाली 

इस सांसद का नाम बिनोय विस्वम है और इसकी तस्वीर आप ऊपर देख सकते है, ये सीपीआई नाम की वामपंथी पार्टी का राज्यसभा सांसद है 

इस राज्यसभा सांसद को राम मंदिर भूमिपूजन का दूरदर्शन पर प्रसारण मंजूर नहीं और इसने लिखित में इसे रोकने की मांग की है, देखिये 
इस सांसद का कहना है की राम मंदिर का दूरदर्शन पे प्रसारण सेकुलरिज्म के खिलाफ है और इसे बिलकुल भी बर्दास्त नहीं किया जा सकता, किसी भी कीमत पर दूरदर्शन पर इसका प्रसारण नहीं होना चाहिए

बता दें की इस से पहले एक और वामपंथी नेता डी राजा जिसका पूरा नाम डेनियल राजा है उसने प्रधानमंत्री मोदी के ही इस कार्यक्रम में शामिल होने का विरोध किया था और उसे भी सेकुलरिज्म के खिलाफ बताया था