भगवान् राम पर दिए बयान पर PM ओली को पड़े जूते, पूर्व डिप्टी PM ने आगे से बकवास न करने को कहा



नेपाल के वर्तमान वामपंथी प्रधानमंत्री केपी ओली ने सोचा था की वो भगवान् राम को नेपाली बता देंगे और कहेंगे की अयोध्या भारत में नहीं नेपाल में है तो उनको नेपाल की जनता का भरपूर समर्थन मिलेगा 

ओली ने कहा था की - राम भारत के नहीं बल्कि नेपाली है, और असली अयोध्या भी भारत में नहीं बल्कि नेपाल में है

वैसे ओली ने ये नहीं बताया की नेपाल में अयोध्या किस स्थान पर है, किस जिले में है 

ओली द्वारा भगवान् राम पर दिए गए बयान पर अब नेपाल में लोगो का गुस्सा फूट रहा है, लोगो ने ओली को नीच हरकतें न करने की सलाह दी है और ये भी कहा है की अपनी राजनीती के लिए धर्म को मत घसीटो 

ओली ने सोचा था की भगवान् राम को नेपाली बताने पर उन्हें नेपाली जनता का समर्थन मिलेगा पर हुआ इसका उल्टा और अब चारों ओर ओली का विरोध प्रदर्शन हो रहा है

नेपाल के पूर्व डिप्टी प्रधानमंत्री कमल थापा ने कहा है की - ओली को राजनीती करनी है तो करे पर प्रधानमंत्री के स्तर पर बकवास अच्छी बात नहीं, इस से नेपाल का ही मजाक बनता है

कमल थापा ने कहा की सब जानते है की भगवान् राम का जन्म अयोध्या में हुआ और अयोध्या भारत के उत्तर प्रदेश राज्य में है, ओली की कोई औकात नहीं है की वो इतिहास को बदल दे, प्रधानमंत्री के स्तर पर सस्ता बकवास शोभा नहीं देता 
कमल थापा ने ये भी कहा की ओली भारत और नेपाल के संबंधों को ख़राब कर रहे है और आने वाले समय में नेपालियों को कोई समस्या हुई तो उसके लिए सिर्फ ओली ही जिम्मेदार होंगे