PM मोदी के साथ भूमिपूजन को जायेंगे अडवाणी, आन्दोलन के सेनापति अडवाणी ही थे


5 अगस्त को अयोध्या में भगवान् श्री राम चन्द्र जी के मंदिर के लिए भूमि पूजन का कार्यक्रम तय कर लिया गया है, राम मंदिर ट्रस्ट ने प्रधानमंत्री मोदी को निमंत्रण भेजा था और 3 अगस्त तथा 5 अगस्त की तारीख बताई थी, प्रधानमंत्री ने 5 अगस्त की तारीख को पसंद किया, इसी 5 अगस्त को साल 2019 में धारा 370 को भी ख़त्म किया गया था 

प्रधानमंत्री मोदी 5 अगस्त को अयोध्या में होंगे, उनके साथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत बीजेपी और आरएसएस तथा हिन्दू संगठनो से जुड़े तमाम बड़े नेता शामिल होंगे 

इनमे राम जन्म भूमि आन्दोलन के सेनापति लाल कृष्ण अडवाणी भी शामिल है, प्रधानमंत्री मोदी के साथ अडवाणी भी दिल्ली से अयोध्या जायेंगे और भूमि पूजन में हिस्सा लेंगे 

बता दें की लाल कृष्ण अडवाणी ही बीजेपी की ओर से अयोध्या राम जन्म भूमि आन्दोलन के सेनापति थे, जब आन्दोलन चलता था तब मोदी अडवाणी के पीछे पीछे एक सैनिक की भूमिका में चलते थे 

आन्दोलन को मुख्यतः विश्व हिन्दू परिषद् और बीजेपी ने चलाया था और आन्दोलन के मुख्य सेनापति विश्व हिन्दू परिषद् के स्वर्गीय अशोक सिंघल थे, बीजेपी की तरफ से आन्दोलन का काम अडवाणी की देख रेख में होता था

दुर्भाग्य से अशोक सिंघल का स्वर्गवास हो जाने के कारण वो भूमि पूजन में शामिल नहीं होंगे पर लाल कृष्ण अडवाणी शामिल होंगे, भूमि पूजन के साथ ही राम मंदिर निर्माण शुरू हो जायेगा