जिस दलित के घर योगी ने खाया था खाना, उसी को मिला भूमिपूजन का पहला प्रसाद, जय श्री राम


बुधवार को जो अयोध्या में जो हुआ वह करोड़ों हिंदुओं की आखों का वह सपना था जिसे वे बीते 500 साल से संजोए थे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने धूम धाम से राम मंदिर का शिलान्यास  किया. 

भूमिपूजन के बाद देशभर में दीपोत्सव मनाए गया, पटाखे छुड़ाए गए यहां तक मुख्यमंत्री आवास में सीएम योगी आदित्यनाथ ने दीपावली मनाई औऱ आतिशबाजी छुटाकर अपनी खुशियां जाहिर कीं. भूमिपूजन कार्यक्रम में उपस्थि लोगों को प्रसाद दिया गया, लेकिन अब अयोध्या के कुछ चुनिंदा लोगों को भी प्रसाद वितरण किया जा रहा है.

राम मंदिर भूमिपूजन के प्रसाद वितरण की शुरूआत एक दलित परिवार से की गई. अयोध्या निवासी महावीर मिस्त्री को पहला भेजा गया. यह वही दलित परिवार है जिसे प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास मिला था और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 2019 में चुनाव प्रचार में प्रतिबंध के दौरान उनके घर भोजन करने गए थे. उस दौरान इस किस्से ने खूब सुर्खियां बटोरीं थीं.

बता दें कि 2019 लोकसभा चुनाव के दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ पर अली और बजरंगबली पर दिए बयान को लेकर चुनाव प्रचार से रोक लगाई गई थी. पाबंदी के दौरान सीएम ने अयोध्या जाकर हनुमानगढ़ी का दर्शन किया.

 इस दौरान योगी सुतहटी मोहल्ले जिसे मलिन बस्ती से जाना जाता है, में दलि महावीर मिस्त्री के यहां भोजन पर गए. यहां सीएम गुड़ खाकर पानी पिया और घर की रसोई में बनी तरोई की सब्जी के साथ रोटी खाई थी. सीएम ने परिवार का हालचाल जाना कुछ आर्थिक मदद की बात भी कही. दलित के घर मुख्यमंत्री का भोज उन दिन सुर्खियां बन गया था.