बकरीद के बाद आतंक, मेरठ में नलों से निकल रहा है खून मिला पानी, बड़े पैमाने पर की गयी है जानवरों की हत्या


मेरठ में बकरीद के बाद अब आतंक मच गया है, शनिवार को देशभर में बकरीद मनाई गई. कोरोना काल में योगी सरकार की सख्ती के चलते के चलते कुर्बानी घरों में दी गई. बकरे को हलाल करने की की मजहबी मान्यता के बीच मेरठ के दर्जनों घरों में नलों से लाल गाढ़े रंग का पानी निकलने लगा, जिससे मोहल्ले के लोग घबरा गए. 

जैसे ही यह सूचना औऱ लोगों को हुई इलाके में अफरातफरी मच गई.  लाल पानी निकलने की सूचना पर हिदू संगठन व भाजपा कार्यकर्ता मौके पर पहुंचे और हंगामा किया. इसी बीच पुलिस बल एसडीएम ने मौके पर पहुंचे और लोगों को समझाकर शांत किया.

जानकारी के मुताबिक यह पूरा मामला लावड़ के मोहल्ला बड़ा मंदिर क्षेत्र का है, जहां नल से लाल पानी निकलने से बवाल मच गया.वहीं इस मामले पर अधिकारियों का कहना है कि टंकियों में से लाल पानी निकल रहा था, सैंपल लिए गए हैं. पाइप लाइन चेक कर रहे हैं. जहां भी पाइप लाइन क्षतिग्रस्त होगी उसे ठीक कराया जाएगा.

आशंका जताई जा रही है कि बकरीद पर पशुओं की कुर्बानी के बाद खून को नाली में बहा दिया गया होगा, नाली के आसपास की पाइप लाइन फटी होगी, जिसके जरिए यह घरों तक पहुंच गया. एसडीएम ने टेस्ट के लिए लाल पानी के सैंपल डिब्बे में भरवाए. एसडीएम ने पाइप लाइन चेक कराकर टूटे हिस्से को जल्द ठीक कराने का आश्वासन दिया. इस दौरान इलाके के लोगों में काफी रोष देखने को मिला.

बता दें कि यह कोई पहली बार नहीं हुआ है बीते साल कुछ ऐसा ही मामला मुजफ्फरनगर से आया था, जब घरों से लाल पानी निकलने लगा था बाद में पता चला कि पाइपलाइन फटी होने के कारण कुर्बानी का खून लोगों को घरों तक पहुंच गया. 

इसी साल कुछ ऐसा ही मामला मुरादाबाद से भी आया है जहां सिलपत्थर कॉलोनी में टंकी से खून आने से दशहत फैल गई, लोगों को कहना है कि खून के साथ-साथ चर्बी भी नलों से आ रही है. बहरहाल, पानी के सैंपल ले लिए गए हैं बाकी जांच के बाद ही पता चल सकेगा कि सच्चाई क्या है.