जो काम पाकिस्तान ने कुलभूषण से मिलने गए अफसरों ने साथ न किया उस से शर्मनाक काम उद्धव सरकार ने किया


आपको याद होगा भारत के अफसर और कुलभूषण जाधव के परिजन पाकिस्तान गए थे कुलभूषण जाधव से मिलने, पाकिस्तान में उनका अपमान किया गया था, उन्हें परेशान किया गया था 

पाकिस्तान तो आतंकवादी देश है, उस से इसी प्रकार की हरकत की उम्मीद की जा सकती है पर जो काम पाकिस्तान ने भारत के अफसरों के साथ पाकिस्तान के अन्दर किया, उस से भी ज्यादा शर्मनाक कारनामा महाराष्ट्र की उद्धव सरकार ने कर दिखाया है 

सुशांत सिंह राजपूत के हत्यारों को बचाने के लिए महाराष्ट्र की उद्धव सरकार और मुंबई पुलिस जो की उद्धव सरकार के अंडर काम करती है उसने पूरा जोर लगा दिया है 

बिहार से पहले जांच टीम गयी, महाराष्ट्र में उनको कोरोना के नाम पर QUARANTINE नहीं किया गया, इस टीम को लीड करने के लिए बिहार सरकार ने एक आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी को मुंबई भेजा तो महाराष्ट्र की सरकार ने QUARANTINE के नाम पर विजय तिवारी को नजरबंद कर दिया 

अब विजय तिवारी एक तरह से हाउस अरेस्ट ही है, वो काम नहीं कर सकते, 15 दिनों तक वो हाउस अरेस्ट ही रहेंगे

इस से पहले दुनिया ने तस्वीरें देखि की किस प्रकार जांच के लिए पहुंची बिहार पुलिस की टीम को मुंबई पुलिस ने अपराधियों की तरह धक्का दिया और गाड़ी में धकेला 
आप देख सकते है की किसी दुसरे राज्य की पुलिस एक केस की जांच के लिए पहुंची है तो उसके साथ महाराष्ट्र की उद्धव सरकार किस तरह का सलूक कर रही है

ऐसा सलूक भारतीय अधिकारीयों के साथ पाकिस्तान में भी नहीं किया जाता पर उस से ज्यादा शर्मनाक कारनामा भारत के ही अन्दर महाराष्ट्र की उद्धव सरकार कर रही है, इस तरह की हरकतें कर उद्धव सरकार और मुंबई पुलिस खुद ही अपनी पोल खुल रही है और साबित होता जा रहा है की सुशांत सिंह राजपूत के मर्डर में बड़े लोग शामिल है जिन्हें बचाने के लिए उद्धव सरकार और मुंबई पुलिस बेशर्मी और नंगई पर उतर आई है