समाजवादी पार्टी ने दी धमकी - "अयोध्या में बाबरी मस्जिद थी और बाबरी मस्जिद ही रहेगी"


5 अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर का पुनर्निर्माण शुरू हो गया, अब मजहबी उन्मादी राम मंदिर को दुबारा तोड़ने तक की धमकियाँ दे रहे है 

सबसे पहले आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने अयोध्या में फिर से मस्जिद बनाने की धमकी दी, इसके बाद आल इंडिया इमाम एसोसिएशन के मौलाना साजिद राशिदी ने आज धमकी दी की राम मंदिर को दुबारा तोड़कर बाबरी मस्जिद बनायेंगे 

अब समाजवादी पार्टी ने भी धमकी दे दी है की भले अयोध्या में राम मंदिर बन जाये पर हम उसे मंदिर नहीं मानेंगे, अयोध्या में बाबरी मस्जिद थी और बाबरी मस्जिद ही रहेगी 

समाजवादी पार्टी के लोकसभा सांसद शफीकुर रहमान बर्क ने ये धमकी आधिकारिक तौर पर दी है 

समाजवादी पार्टी के इस सांसद ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले को भी मानने से इंकार कर दिया और कहा की ये फैसला बीजेपी ने बलपूर्वक करवाया है 
बता दें की कई मजहबी उन्मादी खुलकर ये भी बोल रहे है की अभी हमारे पास पॉवर नहीं है पर आने वाले समय में हमारी संख्या बढ़ते ही पॉवर हमारे पास होगी और फिर अयोध्या में फिर बाबरी मस्जिद बनाई जाएगी, भले इसके लिए कितने भी साल लग जाये