गुरमेहर कौर ने नौकरी के लिए पोस्ट किया फर्जी प्रोफाइल, फर्जीवाड़े के जरिये चाहिए विदेश में नौकरी


गुरमेहर कौर आपको याद नहीं है तो आपको बता दें की ये वही है जिसने प्ले कार्ड पकड़कर अपने पिता को कारगिल शहीद बताया था और कहा था की मेरे पिता को पाकिस्तान ने थोड़ी मारा है उनको तो युद्ध ने मार दिया है, गुरमेहर कौर ने पाकिस्तान को क्लीन चिट दी थी 

गुरमेहर कौर अब नौकरी चाहती है वो भी विदेश में, गुरमेहर कौर का कहना है की - मुझे नौकरी चाहिए और नौकरी भी ब्रिटेन या फिर यूरोप के किसी देश में चाहिए 

गुरमेहर कौर जो पिछले कई सालों से सोशल मीडिया पर भारत और सेना के खिलाफ लिखती आई है और भारत विरोधी वामपंथियों के साथ मिलकर प्रोपगंडा फैलाती आई है, ये अब नौकरी प्राप्त करना चाहती है और उसके लिए गुरमेहर कौर ने एक बड़ा फर्जीवाडा भी कर दिया है 

ट्विटर पर गुरमेहर कौर ने कहा है की उसे 4 साल का अनुभव है राजनीती और पत्रकारिता का

गुरमेहर कौर को आखिर राजनीती का 4 साल का अनुभव किस पार्टी के जरिये है ये बताना वो भूल गयी, वो तो किसी पार्टी में कभी रही नहीं तो आखिर राजनीती का 4 साल का अनुभव कहाँ से आ गया ?

दूसरी बात सोशल मीडिया पर आर्मी और भारत के खिलाफ लिखना पत्रकारिता कब से हो गया, गुरमेहर कौर ने किस मीडिया हाउस में पत्रकारिता की है ? 

4 साल का पत्रकारिता का अनुभव आखिर कहाँ से है ? 4 साल का राजनीती का अनुभव आखिर कहाँ से है ? ये अपने आप में बड़ा प्रश्न है, सोशल मीडिया अपर प्ले कार्ड पकड़कर 1 विडियो बना देने से, भारत, आर्मी के खिलाफ लिख देने से कोई पत्रकार या राजनेता थोड़ी हो जाता है