अमिताभ ने ईद की दी बधाई पर राम मंदिर की बधाई देने से किया इंकार, कोरोना हुआ था तब हिन्दुओ ने की थी इनके लिय प्रार्थना और यज्ञ


अभी हाल ही में अमिताभ बच्चन और उनके पुरे परिवार को कोरोना हो गया था, इसके बाद देश भर के मंदिरों में अमिताभ बच्चन के लिए प्रार्थना की गयी थी, अमिताभ और उनके परिवार के लिए लोगो ने यज्ञ का भी आयोजन कई स्थानों पर किया था 

अमिताभ बच्चन के लिए मंदिरों में तो प्रार्थना और यज्ञ किया गया था पर किसी भी मस्जिद में इनके लिए कोई दुवा नहीं की गयी थी 

1 अगस्त को बकरीद था और अमिताभ बच्चन ने कुछ इस अंदाज में बकरीद की बधाई दी 

मक्का के काबा की तस्वीर लगाकर अमिताभ बच्चन ने बढ़िया ग्राफ़िक तैयार करवाया और बकरीद की बधाई दी

इसके बाद 5 अगस्त को राम मंदिर का पुनर्निर्माण शुरू हुआ पर अमिताभ बच्चन ने हिन्दुओ को मंदिर के पुनर्निर्माण की कोई बधाई नहीं दी

जिन हिन्दुओ ने अमिताभ और उनके पुरे परिवार के लिए मंदिरों में प्रार्थना की, यज्ञ किया उन हिन्दुओ को अमिताभ ने मंदिर के पुनर्निर्माण की कोई बधाई नहीं दी

हिन्दुओ का भी गुस्सा अब अमिताभ के खिलाफ फूट रहा है क्यूंकि हिन्दू ठगा हुआ महसूस कर रहा है

सेकुलरिज्म का मतलब होता है, सभी धर्मो का एक बराबर सम्मान, सभी धर्मो को एक जैसा समझना, पर अमिताभ ने बकरीद की बधाई तो दी पर हिन्दुओ को उनके मंदिर की बधाई नहीं दी, और इसके साथ ही अमिताभ और उनके जैसे लोगो ने साबित कर दिया की ये लोग सेक्युलर भी नहीं