लाठी पर बंधे चाकू लेकर भारतीय सैनिको को मारने पहुंचे 40 चीनी सैनिक, दुनिया को बता दिया - ये सैनिक नहीं माफिया गुंडे है


चीनी सेना ने पूरी दुनिया के सामने अपनी पोल अब खुद ही खोलकर रख दी है, किसी भी बड़े देश की सेना इस तरह की हरकतें नहीं करती जिस तरह की हरकतें चीनी सेना कर रही है 

7 सितंबर की रात को पांगोंग त्सो लेक के एक हिस्से में चीनी सेना और भारतीय सेना के बीच फायरिंग हुई है, ये वार्निंग शोट्स थे, यानि वार्निंग देने के लिए हवा में की गयी फायरिंग 

इस फायरिंग में अबतक किसी नुक्सान की खबर तो नहीं है पर चीनी सेना की करतूत सामने आई है, भारतीय सेना ने एक चीनी टुकड़ी की तस्वीर ली है जो की भारतीय सैनिको को डराने और उनपर हमले के मकसद से आगे आई थी 

इस चीनी सेना की टुकड़ी में 40 के करीब चीनी सैनिक थे और इनके पास रायफल भी थे और साथ ही लाठी पर बंधे हुए चाक़ू वाले हथियार भी 

सभी चीनी सैनिको ने हाथों में चाक़ू वाले हथियार को ले रखा था और ये भारतीय सैनिको की तरफ चाक़ू वाले हथियार लहरा रहे थे, ये भारतीय सैनिको को चाक़ू वाले हथियार दिखाकर डरा रहे थे 

किसी देश की प्रोफेशनल सेना के जवान इस तरह के हथियारों का इस्तेमाल नहीं करते, इस तरह के हथियार तो माफिया और गुंडे इस्तेमाल करते है, चीनी सेना ने साबित कर दिया की वो सेना नहीं बल्कि एक माफिया है