"8 सितंबर, आज मेरी पुण्यतिथि है, पर कोई नहीं आया मेरी कब्र पर, मुझसे अभागा कौन होगा"


आज 8 सितंबर का दिन काफी खास है, क्यूंकि आज एक ऐसे शख्स की पुण्यतिथि है जिसके कई कई रिश्तेदार इस देश के प्रधानमंत्री थे 

हम बात कर रहे है फिरोज खान की, आज 8 सितम्बर का दिन है, आज ही के दिन साल 1960 में फिरोज खान का निधन हो गया था

फिरोज खान जैसा कोई शख्स इस देश में अबतक नहीं हो सका है, जी हां कोई नहीं, फिरोज खान का ससुर नेहरु इस देश का कई सालों तक प्रधानमंत्री था, खुद फिरोज खान की बेगम इंदिरा खान उर्फ़ इंदिरा गाँधी भी कई साल इस देश की प्रधानमंत्री थी 

इतना ही नहीं फिरोज खान का खुद का बेटा राजीव खान उर्फ़ राजीव गाँधी भी कई साल इस देश का प्रधानमंत्री था, और इतना ही नहीं, फिरोज खान की बहू अन्टोनिया माइनो उर्फ़ सोनिया गाँधी तो साल 2004 से लेकर 2014 तक इस देश की सुपर प्रधानमंत्री थी 

एक ऐसा शख्स जिसके रिश्तेदार प्रधानमंत्री रहे हो आज उस शख्स की पुण्यतिथि पर उसकी कब्र पर एक छुटभैया कांग्रेस नेता तक नहीं गया 

फिरोज खान की कब्र प्रयागराज के ममफोडगंज इलाके में है, ये फिरोज खान की कब्र की तस्वीर है, देखिये 



प्रियंका वाड्रा अक्सर अपनी दादी की बात करती है, दादी जैसे नाक है बताती है, राहुल गाँधी भी अपनी दादी का नाम लेते है, पर अपने दादा फिरोज खान से इनको न जाने ऐसी कौन सी नफरत है की फिरोज खान की कब्र पर सोनिया, राहुल, प्रियंका तो छोड़ो कोई छुटभैया कांग्रेस नेता तक नहीं जाता, फिरोज खान की कब्र आज फिर सूनी है