कानपुर - मुस्लिम लड़की ने घर वापसी कर दलित युवक से किया विवाह, अब मुस्लिम दे रहे जान से मारने की धमकी


अक्सर कई सारे तत्व "जय भीम जय मीम" का नारा लगाते है, अगर दलित लड़की किसी मुसलमान से निकाह करती है तब ये उसका स्वागत करते है, पर जैसे ही कोई मुस्लिम लड़की किसी दलित से शादी करती है तब मामला बिगड़ जाता है 

यानि दलित-मुस्लिम एकता में सिर्फ दलित लड़कियां ही मुसलमानों के घर जा सकती है, मुसलमानों की लड़कियां दलितों के घर नहीं आ सकती, और अगर मुसलमान लड़की दलित के घर आती है तब दलित को जान से मारने की धमकियाँ दी जाती है 

ताजा मामला कानपुर से सामने आया है जहाँ एक मुस्लिम लड़की ने घर वापसी की है, घर वापसी करने के बाद उसने एक दलित युवक से शादी कर ली है और अब मुस्लिम इस दलित लड़के को मारने की धमकी दे रहे है 

जानकारी के मुताबिक यह पूरा मामला बर्रा थाना क्षेत्र का बताया जा रहा है. जहां निवासी हिना का पड़ोस में रहने वाले नितेश पासवान से प्रेम-प्रसंग चल रहा था. दोनों एक दूसरे को करीब 4 साल से जानते थे. 

हिना के मुताबिक नितेश उसे बहुत प्यार करता था, वह भी उसे चाहती थी औऱ उसपर भरोसा करती थी, जिसके चलते उसने इस्लाम धर्म छोड़कर हिंदू धर्म अपना लिया औऱ अपना नाम हिना के बजाय सोनी रख लिया. इसके बाद आर्य समाज मंदिर में पूरे हिंदू रीति-रिवाज के साथ नितेश से शादी की.

युवती ने बताया कि उसके घरवाले नहीं चाहते थे कि वह किसी हिंदू से शादी करे, इसीलिए उसे उनकी मर्जी के खिलाफ जाकर भागकर शादी करनी पड़ी. वहीं अब परिजन उसकी, पति और पेट में पल रहे बच्चे की जान के दुश्मन बने हुए हैं. 

पीड़िता के मुताबिक परिजनों का कहना है कि तुझे, तेरे हिंदू पति और तेरे पेट में पल रही उसकी संतान तीनों को मार डालेंगे. धमकियों से डरे दंपति शनिवार को पुलिस के पास पहुंचे और सुरक्षा की गुहार लगाई. वहीं इस मामले पर मीडिया को जानकारी देते हुए थाना प्रभारी हरप्रीत सिंह ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है, पीड़ित परिवार को सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी.