अब कंगना का कुछ न बिगाड़ पायेगा संजय राउत और शिवसेना के गुंडे, CRPF और CISF कमांडो करेंगे देश की बेटी की सुरक्षा


पहले कंगना ने क्या किया है वो कम शब्दों में समझिये 

* कंगना ने पालघर के साधुओं और सुशांत के लिए न्याय की मांग की है 
* कंगना ने बॉलीवुड में ड्रग्स माफिया के खिलाफ आवाज उठाई है 
* कंगना ने मुंबई पुलिस की आलोचना की है, महाराष्ट्र सरकार की आलोचना की है 

कंगना ने कभी मुंबई शहर या महाराष्ट्र राज्य के खिलाफ 1 शब्द भी नहीं बोला है, वो इस देश की नागरिक है, देश की बेटी है और स्वतंत्र देश में अपनी बात रख रही थी 

पर शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत और शिवसेना के गुंडों ने कंगना को जान से मारने की धमकियाँ दे डाली, कोई कहने लगा की कंगना मुंबई में घुसी तो उसके पैर तोड़ देंगे, तो कोई कहने लगा कंगना का मुहं तोड़ देंगे, इन लोगो ने संविधान से चलने वाले इस देश को तालिबान ही बना दिया 

संजय राउत तो अपने संस्कारों का भी प्रदर्शन करने लगा और कंगना को "हरामखोर लड़की" बता दिया 

कंगना भी धमकी देने वाले गुंडों से नहीं डरी और उन्होंने 9 सितम्बर को मुंबई जाने का ऐलान किया, देश की बेटी ने बहादुरी का परिचय दिया तो ऐसे में मोदी सरकार और गृहमंत्रालय कैसे हाथ पर हाथ रखकर बैठ सकता था 

गृहमंत्रालय ने आज कंगना रानौत को Y श्रेणी की सुरक्षा प्रदान कर दी, अब कंगना की सुरक्षा में 11 सुरक्षा कर्मी 24 घंटे तैनात रहेंगे वो भी हथियारों से लैस, इनमे 3 कमांडो भी होंगे, या तो ये CRPF के कमांडो होंगे या CISF के 

अब कंगना रानौत का न संजय राउत और न ही धमकी देने वाले शिवसेना के गुंडे कुछ बिगाड़ पाएंगे, देश की बेटी को सरकार के स्वतंत्र घुमने की पूरी छुट दी है और सुरक्षा भी प्रदान की है, अब देश की बेटी अपनी इक्षा से घूम भी सकेगी और अपनी अभिव्यक्ति की आज़ादी का इस्तेमाल भी कर सकेगी