PM मोदी को मौत के घाट उतारने की उन्मादियों ने की साजिश, NIA ने गृह मंत्रालय को किया सतर्क


देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को को मारने की साजिश मजहबी उन्मादी तैयार कर रहे है, इस मामले में NIA ने गृहमंत्रालय को सतर्क किया है जिसके बाद प्रधानमंत्री मोदी की सुरक्षा की समीक्षा की जाएगी 

राष्ट्रीय जांच एजेंसी के हाथों कुछ ईमेल लगे है जिसमे प्रधानमंत्री मोदी को मारने की बातें लिखी गयी है, इन इमेल्स में 'किल नरेन्द्र मोदी' लिखा हुआ है, NIA इन इमेल्स के कंटेंट की जांच कर रही है 

प्रधानमंत्री की सुरक्षा की जिम्मेदारी एसपीजी नाम की एजेंसी की है, गृहमंत्रालय ने एसपीजी को फुल अलर्ट रहने का निर्देश दिया है

टाइम्स नाउ की रिपार्ट के अनुसार, एनआईए ने गृह मंत्रालय एक पत्र लिखकर पीएम मोदी को हत्या वाले ई-मेल की जानकारी दी है। एजेंसी ने अपने पत्र में लिखा, “एनआईए को एक ईमेल आईडी मिली है जिसमें कुछ गणमान्य लोगों की हत्या की बात कही गई है। ई-मेल में मौजूद कंटेंट इसकी तस्दीक करते हैं। इस पत्र के साथ ही ई-मेल की कॉपी भी लगाई गई है। इस मामले में एनआईए ने उचित कार्रवाई करने का अनुरोध भी किया है।

बता दें यह मेल 8 अगस्त को जारी किया गया था। जिसमें सभी सुरक्षा एजेंसियों के खतरे के साथ प्रधानमंत्री के जीवन पर भी सीधे खतरे की बात की गई है। ई-मेल का पता लगने के बाद सुरक्षा एजेन्सियाँ चौकन्नी हो गई हैं। खतरे के मद्देनजर पीएम मोदी की सुरक्षा कवच को बढ़ा दिया गया है।

रिपोर्ट के अनुसार एनआईए ने इस मामले में अपनी ओर से किसी भी प्रकार से की जाँच नहीं की है। बता दें इस पूरे मामले से गृह मंत्रालय ने एसपीजी को अवगत कराया है। स्पेशल प्रोटक्शन ग्रुप यानी एसपीजी ही पीएम मोदी की सुरक्षा करता है।

एनआईए कई प्रमुख सुरक्षा एजेंसियों के भी संपर्क में है। इनमें रॉ, खुफिया ब्यूरो (आईबी), डिफेंस इंटेलिजेंस के प्रतिनिधि शामिल हैं। गौरतलब है कि यह खुलासा ऐसे समय में हुआ है जब पीएम मोदी के प्रति नफरत की राजनीतिक को बढ़ावा दिया जा रहा है। ई-मेल का खुलासा होने के बाद बाहरी तत्वों पर सख्ती से नजर रखी जा रही है। आतंकी हमलों को लेकर सुरक्षा एजेंसियॉं पहले ही अलर्ट कर चुकी हैं।