इ-रिक्शा चलाने वाले दिलदार ने राहुल बनकर 13 साल की हिन्दू लड़की को फंसाया, 2 शादियाँ पहले से, गर्भवती बीवी को बताता था बहन


आपके घर में बेटियां है, आपके रिश्तेदारों के घर में बेटियां है खासकर 10 साल से 20 साल के बीच की यानि नयी नयी जवान हुई या जवान हो रही तो फिर आप सावधान हो जाइये, बिलकुल हलके में मत लीजिये क्यूंकि अगला नंबर आपके घर का हो सकता है, मजहबी उन्मादी हर गली मोहल्ले दुसरे धर्म की लड़कियों को शिकार बनाने में लगे हुए है 

दिल्ली में एक 13 साल की हिन्दू लड़की को शिकार बना लिया गया है, मामला दिल्ली के छत्तरपुर इलाके का है जहाँ एक मोहल्ले में एक इ-रिक्शा चालाक किराये पर रह रहा था 

लोगो को वो अपना नाम राहुल बताता था, इसकी तस्वीर आप ऊपर देख सकते है, इसने 13 साल की एक हिन्दू लड़की को जाल में फंसाया, लड़की नयी नयी जवानी की दहलीज पर, शातिरों के लिए ऐसी लड़कियों को फंसाना मुश्किल काम नहीं 

लड़की को इस इ-रिक्शा चालाक ने अपना नाम राहुल बताया और साथ ही इलाके में ये लोगो को ये बताता की ये अपनी दिव्यांग बीवी के साथ रहता है, पिछले 18 अक्टूबर को इलाके की 13 साल की 8वी में पढने वाली लड़की गायब हो गयी

शाम तक लड़की घर नहीं आई तो घर वालो ने उसकी खोज शुरू की, लड़की ये बोलकर घर से निकली थी की वो सहेली के घर जा रही है, पुलिस ने जांच की तो एक क़ुतुब मेट्रो का एक CCTV फुटेज दिखाई दिया जिसमे वो 'राहुल' के साथ दिखाई दी 

जांच में पता चला की ये राहुल नहीं बल्कि दिलदार कुरैशी है, और जिस महिला को ये अपनी बहन बता रहा था वो असल में इसकी दूसरी बीवी है जिसका नाम सोनी है, सोनी को भी इसने 1 साल पहले फंसाया था, सोनी को गर्भवती कर ये सफदरजंग अस्पताल में भर्ती करवाकर 13 साल की हिन्दू लड़की को फंसाकर भाग गया, सोनी और उसके पेट में पल रहे बच्चे की अस्पताल में ही मौत हो गयी 

जानकारी में ये बात भी सामने आई की दिलदार कुरैशी ने सोनी से पहले भी एक और शादी की थी और उस महिला को भी इसने छोड़ दिया था, उसे छोड़कर ये दिल्ली भागकर आ गया था जहाँ इसने पहले सोनी को फंसाया उसके बाद 13 साल की लड़की को, पहली शादी से भी इसे 2 बच्चे है 


दिलदार कुरैशी को अब पुलिस खोज रही है वहीँ 13 साल की हिन्दू लड़की का भी अभी तक अतापता नहीं चल सका है