"इस गद्दार की वजह से कट जायेंगे वोट", RJD उम्मीदवारों ने कन्हैया से चुनाव प्रचार करवाने से किया इंकार


कन्हैया कुमार जो की JNU में टैक्स देने वालो के पैसों से कई सालों तक पढने के बाद सीपीआई से जुड़ गए और लोकसभा चुनाव भी लड़ा, उन्हें सीपीआई ने बिहार के विधानसभा चुनाव में टिकेट नहीं दिया 

सीपीआई RJD के साथ गठबंधन करके चुनाव लड़ रही है और कन्हैया कुमार से कहीं कहीं प्रचार करवा रही है, सीपीआई चाहती है की कन्हैया कुमार का RJD भी इस्तेमाल करे, खासकर उन इलाकों में जहाँ मुस्लिम जनसँख्या अधिक है 

पर जानकारी ये सामने आई है की RJD के उम्मीदवार कन्हैया कुमार से चुनाव प्रचार करवाने से इंकार कर रहे है, RJD के उम्मीदवारों का कहना है की मुस्लमान वोट लेने के चक्कर में कहीं यादवों का एक बड़ा वोट न कट जाये क्यूंकि बहुत सारे यादव फ़ौज में होते है और फ़ौज को लेकर यादव समाज में एक भावना भी है और कन्हैया कुमार की छवि फ़ौज और भारत विरोधी है 

RJD उम्मीदवारों का कहना है की मुस्लिम वोटर तो पहले से उनके ही गठबंधन को वोट देगा पर कन्हैया कुमार के इस्तेमाल से यादव और दुसरे समाज के वोट RJD से कट सकते है ऐसे में कन्हैया कुमार फायदेमंद से ज्यादा नुक्सान देहक ही साबित होगा

वहीँ कांग्रेस के उम्मीदवार कन्हैया कुमार से मुस्लिम इलाकों में चुनाव प्रचार करवाने को तैयार है इसके अलावा सीपीआई भी कन्हैया कुमार से चुनाव प्रचार करवा रही है पर RJD के उम्मीदवार कन्हैया कुमार से चुनाव प्रचार करवाने से इंकार कर रहे है 

बता दें की JNU में पढाई के दौरान कन्हैया कुमार कई देशद्रोही गतिविधियों में शामिल था, भारत के टुकड़े करने वाले नारे हो या सेना को बलात्कारी बताना, कन्हैया कुमार पर कई मामले दर्ज है, बिहार में पिछले लोकसभा चुनाव के दौरान कई स्थानों पर उत्की पीटाई भी की गयी थी, और लोकसभा चुनाव में कन्हैया कुमार 3 लाख से ज्यादा वोटों से हारा था